Fri. Jun 21st, 2024

खुर्शीद ने हिंदुत्व और आइएसआइएस के बीच तुलना को लेकर उनकी किताब को निशाना बनाने वाले लोगो से कहा- ऐसा करने वाले अंग्रेजी में कमजोर

सलमान खुर्शीद की बुक को लेकर लगातार विवाद बढ़ता जा रहा है। अब खुर्शीद ने हिंदुत्व और आइएसआइएस के बीच तुलना को लेकर उनकी किताब को निशाना बनाने वालों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह अंग्रेजी में कमजोर है। स्पष्टता के लिए उन्हें एक बार फिर से बुक का अनुवाद करना चाहिए। सलमान खुर्शीद ने कहा, ‘ मैंने यह नहीं कहा कि ISIS और हिंदुत्व एक जैसे हैं । मैंने यह भी कहा है कि आइएसआइएस और बोको हराम इस्लाम धर्म का दुरुपयोग करते हैं, लेकिन किसी इस्लामी अनुयायी ने इसका विरोध नहीं किया। किसी ने नहीं कहा कि मैं उनके धर्म की छवि खराब कर रहा हूं।’

इसके साथ ही सलमान खुर्शीद ने कहा कि ऐसा लगता है कि कुछ लोग हिंदू धर्म को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। वे हिंदू धर्म के दुश्मन हैं और डरते हैं कि उनकी सच्चाई सामने आ जाएगी। बता दें कि सलमान खुर्शीद पांच दिवसीय कल्कि महोत्‍सव के समापन समारोह में पहुंचे थे। इसके साथ ही उन्होंने कहा,’ मैं हिंदू तथा हिंदू धर्म से प्रेम करता हूं, यदि ऐसा नहीं होता तो कल्कि धाम में लगातार नहीं आता। मेरी किताब के कुछ तथ्य को वह लोग तोड़ मरोड़ रहे हैं जिन्हें अंग्रेजी नहीं आती। मैंने किसी धर्म पर टिप्पणी नहीं की है। मेरी टिप्पणी केवल धर्म का दुरुपयोग करने वालों पर थी। ऐसे लोग हिंदू धर्म में भी हैं और मुस्लिम धर्म में भी। सबके तरीके अलग अलग होते है। आइएसआइएस के तरीके भी गलत हैं जिसका उल्लेख किया है।

उधर माकपा नेता हन्नान मुल्ला ने कहा,’सलमान खुर्शीद ने जो कहा उस पर मैं कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता लेकिन संघ सांप्रदायिक नफरत पैदा कर रहे हैं। वे धर्मनिरपेक्ष व्यवस्था को बनाए रखने में मदद नहीं कर रहे हैं। जैसा तालिबान दूसरे राज्यों में कर रहे हैं संघ के लोग यहां भी वही कर रहे हैं।

बता दें कि सलमान खुर्शीद की किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्‍या: नेशनहुड इन आवर टाइम्‍स’ में कथित तौर पर हिंदुत्व की तुलना आतंकवादी समूहों बोको हरम और आइएसआइएस के जिहादी इस्लाम से करने को लेकर खूब विवाद खड़ा हो गया है।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *