Mon. Jul 22nd, 2024

नेलांग घाटी में जूफा और नागटिप्पा के बाद अब ओली में मिला लेडीज स्लीपर आर्किड

Dehradun: वन अनुसंधान शाखा को नेलांग घाटी में एरोमेटिक प्लांट जूफा मिला है, जबकि औली में बेहद कम संख्या में मिलने वाला लेडीज स्लीपर आर्किड मिला है। वन अनुसंधान जूफा को पिथौरागढ़ जिले के डीडीहाट में बन रहे एरोमेटिक गार्डन में लगाने की तैयारी कर रहा है।

वन अनुसंधान के उप वन संरक्षक बीएस शाही कहते हैं कि उत्तरकाशी जिले के नेलांग घाटी में जादूंग के पास काफी संख्या में जूफा मिला है, यह प्रजाति कोल्ड डेजर्ट में होती है। यहां पर काफी संख्या में पौधे मिले हैं।

वन अनुसंधान के सीनियर रिसर्च एसोसिएट मनोज कहते हैं कि यह एरोमेटिक प्लांट है, यह 3000 से 3500 मीटर की ऊंचाई पर मिलता है। अब इस प्लांट को डीडीहाट में बन रहे एरोमेटिक गार्डन में लगाया जाएगा। इसके लिए नेलांग से सौ पौधों को लाया गया है।

 

नागटिप्पा के बाद ओली में लेडीज स्लीपर आर्किड
वन अनुसंधान को नागटिप्पा (मसूरी के पास) में लेडीज स्लीपर आर्किड मिला है। सीनियर रिसर्च एसोसिएट मनोज कहते हैं कि इस प्रजाति पर खतरा मंडरा रहा है। यह प्रजाति भारत में और उत्तराखंड में ही कुछ जगहों पर मिलती है, इसका औली में मिलना एक अच्छा संकेत है। इससे यह भी पता चलता है कि क्षेत्र में जैव विविधता काफी समृद्ध है।

जागरूकता के साथ संरक्षण का प्रयास
वन अनुसंधान के अधिकारियों के अनुसार जूफा सगंध प्रजाति है, इसका उपयोग धूप, परफ्यूम आदि में हो सकता है। इस प्रजाति को एरोमेटिक गार्डन में लगाने से संरक्षण मिलेगा। इसके साथ ही एरोमेटिक गार्डन में लगने से संबंधित प्रजाति के बारे में जागरूकता भी बढ़ेगी, इसके साथ ही प्रजातियों के संरक्षण में भी मदद मिलेगी।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *