Fri. Jun 14th, 2024

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड प्रांतीय सिविल सेवा के अधिकारियों का आह्वान किया कि वे नो पेंडेंसी के मूल मंत्र को आत्मसात कर आगे बढ़ें।

Dehradun: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड प्रांतीय सिविल सेवा के अधिकारियों का आह्वान किया कि वे नो पेंडेंसी के मूल मंत्र को आत्मसात कर आगे बढ़ें। कहा,पीसीएस अधिकारियों के लिए तीन बार सेवाकालीन प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाएगी।

कहा, राज्य के पर्वतीय और मैदानी दोनों क्षेत्रों में सेवा के अवसर दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री शनिवार को सुभाष रोड स्थित होटल में उत्तराखंड प्रांतीय सिविल सेवा (कार्यकारी शाखा) संघ के वार्षिक अधिवेशन को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने संघ की वार्षिक पत्रिका आरोही का विमोचन भी किया। उन्होंने संघ के मांगपत्र पर उचित कार्रवाई का भरोसा दिया।

कहा, सभी विषयों पर गंभीरता से विचार करते हुए समस्याओं का समाधान किया जाएगा। उन्होंने जन समस्याओं के शीघ्र समाधान के लिए त्वरित निर्णय के साथ सुशासन और योजनाओं की आमजन तक जल्द पहुंच के मंत्र पर कार्य करने का आह्वान किया। कहा, राज्य में नया कार्य व्यवहार अपनाना है। नई कार्य संस्कृति के साथ कार्य करने के लिए हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बहुत कुछ सीखना होगा।राज्य हित और जनहित में कोई भी अधिकारी कोई सुझाव देना चाहते है, तो वह उनसे सीधे संपर्क कर सकता है। आप सभी सरकार के प्रमुख अंग हैं। जब आपके द्वारा जनहित में सराहनीय कार्य किये जाते हैं, तो इससे सरकार के प्रति जनता का और विश्वास बढ़ता है।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *