Thu. Jun 20th, 2024

सीएम धामी ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, संविधान निर्माताओं और राज्य आंदोलनकारियों को नमन किया।

Dehradun: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रदेश में जल्द ही समान नागरिक संहिता (यूसीसी) लागू हो जाएगी। यूसीसी के लिए गठित विशेषज्ञ समिति ने ड्राफ्ट रिपोर्ट तैयार कर ली है। रिपोर्ट सरकार को प्राप्त हो जाएगी। ड्राफ्ट रिपोर्ट प्राप्त मिलते ही जल्दी विधानसभा का सत्र बुलाकर पूरे प्रदेश में एक समान कानून लागू कर दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने यह बात प्रदेशवासियों को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शुभकामना संदेश के रूप कही। उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, संविधान निर्माताओं और राज्य आंदोलनकारियों को नमन किया। कहा कि गणतंत्र दिवस हमारे संविधान निर्माण का एक पर्व है। हमारा यह विशिष्ट संविधान हमारे राष्ट्र का निरंतर मार्गदर्शन करता आ रहा है।

यह अवसर हमें देशभक्तों के सपनों को साकार करने और अपने लक्ष्यों के प्रति प्रतिबद्ध होने का संकल्प लेने की भी प्रेरणा देता है। संविधान के अंतर्गत ही हम सभी की जिम्मेदारी यह भी है कि हम न्याय, स्वतंत्रता, समानता और भाईचारे के मूलभूत लोकतांत्रिक आदर्शों के प्रति सदैव प्रतिबद्ध रहें।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अंत्योदय की भावना के साथ समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े लोगों के विकास, कल्याण और उन्नति हेतु संकल्पबद्ध है। जीरो टॉलरेंस ऑन करप्शन की नीति का अनुसरण कर राज्य में सख्त नकल विरोधी कानून लागू किया गया है। जनसेवा से संबंधित अधिकांश सेवाएं ऑनलाइन की गई हैं। पीएम मोदी के मागदर्शन में उत्तराखंड को 2025 तक देश के अग्रणी राज्यों के श्रेणी में लाने के लिए राज्य सरकार हर क्षेत्र में तेजी से कार्य कर रही है।

 

मातृशक्ति का सम्मान हमारे लिए सर्वोपरि
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की मातृशक्ति का सम्मान भी हमारे लिए सर्वोपरि है। राज्य सरकार ने सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 30 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रावधान किया है। राज्य में महिला सशक्तिकरण के लिए मुख्यमंत्री लखपति दीदी योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत राज्य की 1.25 लाख महिलाओं को लखपति बनाने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों से पीएम मोदी के विकसित भारत के संकल्प को पूरा करने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान देने का आह्वान किया।

संकल्प, सिद्धि और सामर्थ्य संग देना होगा योगदान : राज्यपाल

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनि) ने 75वें गणतंत्र दिवस की प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दी। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर अपने संदेश में राज्यपाल ने महात्मा गांधी और भारतीय संविधान के प्रणेता बाबा साहेब आंबेडकर सहित सभी महान स्वतंत्रता सेनानियों और संविधान निर्माताओं का भावपूर्ण स्मरण किया है।

उन्होंने देश की सुरक्षा में तैनात सैन्य बलों और सभी सुरक्षा एजेंसियों के जवानों को सैल्यूट करते हुए देश की रक्षा में शहीद वीर जवानों को नमन किया। कहा, उत्तराखंड को सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने के लिए हम सबको संकल्प, सिद्धि और सामर्थ्य के साथ योगदान देना होगा। राज्यपाल ने कहा, इस साल चारधाम यात्रा और कांवड़ यात्रा ने नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं।

कहा, प्रदेश में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने को केदारखंड की तरह ही प्रदेश में एक और धार्मिक सर्किट मानस खंड मंदिर माला मिशन पर कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री के आदि कैलास और जागेश्वर धाम भ्रमण से मानस खंड क्षेत्र को एक नई पहचान मिली है। प्रदेश में पांचवें धाम, सैन्य धाम का निर्माण कार्य जल्द ही पूरा हो जाएगा।

प्रदेश में रेलवे-रोपवे, रोडवे एवं एयरवेे कनेक्टिविटी की दिशा में काम किया जा रहा। इस साल प्रदेश में जौलीग्रांट, पंतनगर हवाई अड्डों से कई राज्यों के लिए हवाई सेवाओं की संख्या में वृद्धि हुई है। चारधाम ऑल वेदर रोड का निर्माण कार्य अंतिम चरणों में है। चारधाम के साथ ही इससे लगे पर्यटन क्षेत्रों तक पर्यटकों की पहुंच आसान हुई है।

मूल निवास, भू-कानून मुद्दों को सरकार ने गंभीरता से लिया
राज्यपाल ने कहा, मूल निवास और भू-कानून के जनहित से जुड़े मुद्दों को सरकार ने गंभीरता से लिया है। उत्तराखंड एक दिन में सर्वाधिक 18 जीआई प्रमाणपत्र प्राप्त करने वाला पहला राज्य बना है। इससे दुनियाभर में उत्तराखंड के उत्पादों को अलग पहचान मिलेगी। ई-गवर्नेंस को प्रमोट करते हुए 600 से अधिक सेवाएं ऑनलाइन माध्यम पर मौजूद हैं। 950 सरकारी सेवाओं को सेवा के अधिकार में लाया गया है।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *