Thu. Jun 20th, 2024

75वां गणतंत्र दिवस के अवसर पर योग गुरु बाबा रामदेव ने पतंजलि योगपीठ में झंडा फहराया

Haridwar: योग गुरु बाबा रामदेव ने शुक्रवार को पतंजलि योगपीठ में झंडा फहराया। इस मौके पर बाबा रामदेव ने कहा कि जो राम मंदिर का विरोध कर रहे है उनका जल्द ही राम नाम सत्य होगा। साथ ही उन्होंने उत्तराखंड में जल्द लागू होने जा रहे युसीसी पर कहा कि एक देश एक कानून बनने से देश मे एकता का भाव आएगा। ज्ञान व्यापी के मामले पर बाबा ने कहा कि इस मामले को कोर्ट से बाहर ही निपटा लेना चाहिए। बिहार में जारी राजनीतिक हलचल पर कहा कि नितीश कुमार जी जो राष्ट्र की मूल धरा में बहेंगे तो उनका भी राजनीतिक भविष्य सुरक्षित रहेगा। कहा कि देश में राजनीतिक स्थिरता के लिए देश के सभी राष्ट्र भाक्त नेता, पार्टियां जो सनातन को गौरव देती हैं, जो संसकृति मूलक समृद्धि आदि विचारों को एक होकर देश के लिए बड़ी भूमिका निभानी चाहिए।

देश अपना 75वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। हरिद्वार से पूरे विश्व में योग की पताका फहराने वाले योगगुरु बाबा रामदेव ने पतंजलि योगपीठ ने तिरंगा फहराया। इस अवसर पर देश वासियों को गणतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि अब राम मंदिर का निर्माण हो गया है अब राम राज्य आना शेष है जिसके लिए हर भारतवासी को अपना योगदान देना होगा। वहीं उन्होंने कहा कि राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर जब उन्होंने भगवान राम के दर्शन किए तो खुशी से उनके आंसू निकल आए। वहीं उन्होंने कहा कि जो राम मंदिर का विरोध कर रहे है जल्द ही राम नाम करना शुरू कर दे नहीं तो उनका राम नाम सत्य होने में समय नहीं लगेगा। इस अवसर पर उन्होंने बिहार में चल रहे सियासी घटनाक्रम पर बोलते हुए कहा कि अगर नीतीश जल्द ही मुख्य धारा में आ जाते है तो उनका राजनीतिक भविष्य सुरक्षित रहेगा। वहीं उत्तराखंड में आने वाले युसीसी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि एक देश एक कानून से देश मे स्थिरता आएगी ओर एकता का नया सुर उठेगा।

बाबा रामदेव ने इंडिया एलाइंस के घटकों के अपने-अपने राज्यों में अलग होकर चुनाव लड़ने पर कहा कि आज देश मे बटवारे की राजनीति खत्म हो गई है। आज देश एकता की राजनीति में विश्वास रखता है। ज्ञान व्यापी पर बोलते हुए योग गुरु बाबा राम देव ने कहा कि चुकी यह सत्य है कि कुछ स्थानों पर मंदिरों को नष्ट कर मस्जिदों का निर्माण किया गया था इसलिए इस तरह के मामलों को कोर्ट के बजाय बाहर की निपटा लिया जाना चाहिए।
योग गुरु बाबा रामदेव ने 75वां गणतंत्र दिवस के मौके पर पतंजलि योगपीठ में झंडा फहराया। इस दौरान रामदेव के साथ पतंजलि के महामंत्री आचार्य बालकिशन और मुस्लिम धर्मगुरु भी मौजूद रहे। स्वामी रामदेव ने देश से प्रदेशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी।

 बिहार में चल रहे सियासी घमासान पर योग गुरु स्वामी रामदेव ने कहा अच्छी बात है नीतीश भी राजनीति की मूल धारा है उसमें बहेंगे तो उनका भी राजनैतिक भविष्य सुरक्षित रहेगा और देश में एक राजनैतिक स्थिरता के लिए राजनीतिक सुचिता के लिए मुझे तो लगता है जितने भी देश के राष्ट्र भक्त नेता है जितनी भी इस देश की राष्ट्रवादी पार्टियों है जो एक तरफ अपनी सनातनी को गौरव देती है हमारे जीवन में संस्कार हो और दूसरा समृद्धि हो ऐसे विचारों से जो एकमत है उनको तो जरूर एकजुट होकर के एक बड़ी भूमिका देश के लिए निभानी चाहिए।
योग गुरु बाबा रामदेव ने ज्ञानवापी पर बोलते हुए कहा कुछ स्थानों पर मंदिर तोड़कर के मस्जिद बनाई गई है उसको हमारे मुस्लिम भाई भी मानते हैं मुझे लगता है इसमें कोर्ट कचहरी न जा करके आपसी सहमति से ही हो जाना चाहिए जो हिंदुओं के मूल आस्था के केंद्र है अयोध्या काशी मथुरा ऐसे ही कुछ और भी स्थान है जो मूल सनातन संस्कृति के केंद्र थे जो मूल सनातन के आधार है ऐसे मूल स्थान पर मूल तीर्थ पर जो मंदिर तोड़कर के मस्जिद बनाई गई वहां पर तो मुस्लिम भाइयों को स्वयं पूर्वक ही उनको सौंप देना चाहिए।

उत्तराखंड सरकार जल्द ही उसीसी लागू करने जा रही है जिस पर योग गुरु स्वामी रामदेव ने कहा देश में किसी ने नहीं सोचा था 370 हटेगी राम मंदिर बनेगा अब समान नागरिक संहिता की बात हो जनसंख्या नियंत्रण की बात हो एक राष्ट्र एक कानून एक राष्ट्रीय झंडा एक राष्ट्र एक विचार एक संकल्प एक भाव जब होता है तब देश में एकता राष्ट्र की अखंडता और संप्रभुता अक्षम रहती है उत्तराखंड पहला राज्य होगा जहां समान नागरिकता संहिता कानून लागू होगा
इंडिया गठबंधन पर बोलते हुए योग गुरु स्वामी रामदेव ने कहा यह राजनीतिक विषय है यह एक राजनीतिक विषय है ममता नीतीश केजरीवाल और इंडिया गठबंधन पर क्या उठक-पाठक होगी यह मैं नहीं जानता लेकिन इतनी बात जरुर जानता हूं कि अब देश में एकता का एक नया शोर उठा है जिसमें बहुजन समाज में भी एकता आई है और जो अल्पसंख्यकों के नाम पर लोगों को डराया जाता था किसी को ओबीसी के नाम पर किसी को दलितों के नाम पर इन लोगों को बांटा जाता था अब पटवारी की राजनीति देश में खत्म होगी एकता की शुरू होगी। राममंदिर का विरोध करने वालो को योग गुरु स्वामी रामदेव ने कहां की जल्दी से राम की शरण में आ जाओ वरना राम नाम सत्य हो जाएगा।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *