Wed. Jun 19th, 2024

नाराज भोजन माताएं पहुंची विधानसभा, पुलिस ने रोका, धरने पर बैठीं

देहरादून। सीटू से संबंद्ध उत्तराखंड भोजन माता कामगार यूनियन ने पांच हजार मानदेय का शाशनादेश जारी करने की मांग को लेकर सचिवालय कूच किया। इस दौरान पुलिस ने उन्हें सुभाष रोड पर बैरिकेड लगाकर रोक दिया। जिस पर वे वहीं धरने पर बैठ गईं। भोजन माताओं ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और चेतावनी दी कि जब तक मांग पूरी नहीं होगी वह धरना समाप्त नहीं करेंगी।

बुधवार को प्रदर्शन के दौरान सीटू के प्रांतीय महामंत्री मोनिका ने कहा कि उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने जुलाई माह में भोजन माताओं के मानदेय मे वृद्धि की जाने की घोषणा की थी, किंतु घोषणा के चार माह बाद भी इस घोषणा को अमल में नहीं लाया गया

इस अवसर पर सीटू उपाध्यक्ष भगवंत पयाल, रविंद्र नौडियाल, टिका प्रसाद पोखरियाल, रोशनी बिष्ट, रेखा राणा, ऐश्वर्या जुयाल, कबूतरी देवी, फूली देवी, लक्ष्मी देवी, अनुसुइया देवी, कमल देवी, विजया, संजो, सलोचना, सुमित्रा, गुड्डी सती, आशा देवी, पुष्प देवी, दीपा देवी, सुमित्रा देवी, बीना देवी, सुनीता देवी, सरोजनी, रजनी रावत, अनिशा, विमल कौशल, रोशनी देवी, उर्मिला नेगी, मंजू नेगी, रेखा, सरोजनी, मंजू नौटियाल, आशा, पुलमा देवी, संगीता बिष्ट, नगमा, गीता, सलोचना कपूर, कमला अर्चना, पुष्पा, मानवती, बिमला, राधा रमोला आदि उपस्थित रहे।

आंगनबाड़ी कार्यकर्त्‍ताओं को राज्य कर्मचारी घोषित करे सरकार

आंगनबाड़ी कार्यकर्त्‍ताओं ने मानदेय में बढ़ोतरी व राज्य कर्मचारी घोषित किए जाने सहित अन्य मांगों को लेकर तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। उत्तराखंड राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ पिछले कई दिनों से मांगों को लेकर कार्य बहिष्कार पर है। मंगलवार को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत आंगनबाड़ी कार्यकर्त्‍ता ने तहसील में प्रदर्शन कर मांगों पर जल्द कार्रवाई करने की मांग की। इस दौरान संघ की जिला उपाध्यक्ष सुनीता राणा ने कहा की आंगनबाड़ी कार्यकर्त्‍ताओं को राज्य कर्मचारी घोषित किया लाए और जब तक घोषणा नहीं होती तब तक 18 हजार रुपये मासिक मानदेय दिया जाए। साथ ही कार्य के दौरान मृत्यु होने पर सरकारी सहायता व परिवार से एक व्यक्ति को नौकरी दी जाए।

ब्लाक अध्यक्ष अर्चना शर्मा ने कहा की मिनी आंगनबाड़ी केंद्र को भी समान कार्य के लिए समान वेतन के साथ ही समय पर मानदेय दिया जाए। वहीं आंगनबाड़ी कार्यकर्त्‍ताओं ने कहा कि उन्हें भवन किराया भी समय पर नहीं मिलता। उन्होंने भविष्य निधि पेंशन व ग्रेच्युटी, चिकित्सा जैसी सुविधाओं का लाभ भी दिया जाए। प्रदर्शन करने वालों में प्रदेश महामंत्री सुशीला खत्री, सुनीता राणा, सीमा, रश्मि, संतोष, कुसुम, एकता, रजनी राणा,मीना, लक्ष्मी कोठियाल, रजनी रावत, किरण, राधा, सरोज सोलंकी, सुनीता सैनी, रजनी राणा, बबिता सोमबाला, गीता, मीरा नेगी, सीमा देवी, राधा उनियाल, किरण देवी, एकता, बिमला आदि शामिल थे।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *