Wed. Jun 19th, 2024

तहसील दिवस में पहुंचे 5 दर्जन से अधिक अधिकारी और फरियादी सिर्फ नौ

क्या तहसील दिवस की नाकामियों से हो रहा है फरियादियों का मोहभंग

(वाचस्पति रयाल)

नरेंद्रनगर। जिलाधिकारी इवा श्रीवास्तव के निर्देश पर जहाँ लंबे अरसे के बाद नरेंद्रनगर में आयोजित तहसील दिवस में जन समस्याओं के निपटारे के लिए 60 से अधिक जिला स्तरीय अधिकारी मुस्तैदी के साथ पहुंचे,वहीं फरियादियों की संख्या मात्र 9 थी, मगर तसल्ली की बात यह रही कि इन 9 फरियादियों ने 18 शिकायतें दर्ज करवाई हैं।
दरअसल तहसील दिवस कब और किन तिथियों में होने हैं,यह पहले से ही सरकारी रोस्टर के अनुसार तय होता है।सवाल यह उठता है कि क्या लोग इतने भुलक्कड़ हो गए हैं कि उन्हें तहसील दिवसों में अपनी फरियाद करने का स्मरण ही नहीं रहता या फिर विगत में आयोजित तहसील दिवसों में फरियादियों की शिकायतों का निस्तारण ही नहीं हो पाया। तहसील दिवस में अधिकारियों का जमावड़ा लगना और फरियादियों का नदारद रहना कई सवाल खड़े कर रहा है।
बहरहाल बात करते हैं नरेंद्रनगर में आज आयोजित तहसील दिवस की।
बताते चलें कि कार्यक्रम अनुसार यह बैठक जिला अधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव को लेनी थी, लेकिन उनके न पहुंचने पर उप जिलाधिकारी युक्ता मिश्र ने जन समस्याएं सुनी और समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए।


एक ओर जहां आए दिनों क्षेत्र की समस्याएं अखबारों की सुर्खियां बन कर उभरती रहती हैं,वहीं दूसरी ओर फरियादियों का आज तहसील दिवस में न पहुंचना,कई सवाल खड़े कर रहा था।
इसके कई निहितार्थ निकाले जा रहे हैं,या तो लोगों द्वारा तहसील दिवस में रखी समस्याओं का निदान नहीं होता,अथवा पूर्व निर्धारित तहसील दिवसों का समय और तिथि पर लोगों की फरियाद सुनी भी जाती है या नहीं इसका भी भरोसा लोगों को शायद नहीं रह गया है, लोगों में चर्चा यह भी थी कि तहसील दिवस का प्रचार-प्रसार नहीं किया जाता। लोग यह भी कंफर्म नहीं हो पाते कि अमुक तिथि को तहसील दिवस होगा अथवा नहीं। ये तमाम ऐसे कारण हैं जिसकी वजह से तहसील दिवस फ्लॉप होते जा रहे हैं। लगता यह भी है कि शायद कोरोना काल से लोग तहसील दिवस भूलतेे चले जा रहे हैं।
तहसील दिवस में फरियादियों की ना आने की वजह भले ही जो भी हो,मगर जाहिर सी बात है कि कोरोना के चलते तहसील दिवस लगभग फ्लॉप होते चले जा रहे हैं। शुरुआती दौर में तहसील दिवस में फरियादियों का जमावड़ा लगना और शनैः-शनैः समस्याओं का निस्तारण न हो पाने की वजह से भी लोगों का तहसील दिवस में शायद अधिक विश्वास नहीं रह गया लगता है।
सवाल उठता है कि क्या लोग तहसील दिवसों को खानापूर्ति मानकर चल रहे हैं?
तहसील दिवस में दर्जन से कम लोगों का पहुंचने का अर्थ यह भी तो नहीं माना जा सकता कि अब लोगों की शिकायतें ही नहीं रह गयी हैं। एक ओर शिकायतों का अंबार और दूसरी ओर तहसील दिवसों में फरियादियों की कमी,क्या तहसील दिवस की नाकामियों की ओर सवाल खड़े नहीं कर रहा है?
बहरहाल नरेंद्रनगर तहसील सभागार में आयोजित तहसील दिवस में उप जिलाधिकारी युक्ता मिश्र ने सभी फरियादियों की शिकायत गौर से सुनने के साथ ही संबंधित विभाग के अधिकारियों को जल्द से जल्द समस्याओं के निस्तारण के निर्देश दिए हैं।
इस अवसर पर शिकायतकर्ता अतर सिंह ग्राम डौंर द्वारा अपने घर के पीछे लोक निर्माण विभाग को पुस्ता लगाने हेतु अनुरोध किया गया, वहीं ग्राम पंचायत भिंगार्की के सुरेंद्र धमाँदा ने देवल धार आयुर्वेदिक अस्पताल में डॉक्टरों की नियुक्ति करने,शिवपुरी मोटर मार्ग का चौड़ीकरण करने तथा गांव में खराब पड़ी सौर ऊर्जा को ठीक करने की पुरजोर मांग की।
गोविंद सिंह ने पट्टी दोगी क्षेत्र अंतर्गत आपदा से क्षतिग्रस्त पेयजल पाइप लाइन को मरम्मत कराने की मांग की व ही लघु सिंचाई द्वारा बनाई गई नहर के छतिग्रस्त होने का मामला उजागर करते हुए,क्षतिग्रस्त नहर की मरम्मत किए जाने की मांग की।
आगर की प्रधान सपना रावत ने हर घर-नल-जल योजना के अंतर्गत अधिकारी कर्मचारियों को मौके पर जाकर स्थलीय निरीक्षण कर कार्य करने की बात कही। तिमली के राजपाल कंडारी ने क्षेत्र में आधार कार्ड कैप लगाने की मांग की।
वहीं मंजू कोठियाल द्वारा ताछला क्षेत्र के अंतर्गत एनएच 94 ऑल वेदर रोड निर्माण से गांव के क्षतिग्रस्त पैदल मार्ग को मरम्मत किए जाने की मांग की।
ग्राम पंचायत सलडोगी के प्रधान थनबीर भंडारी द्वारा 3 किलोमीटर पर क्षतिग्रस्त आगराखाल-कुसरेला मोटर मार्ग के कारण गांव को पैदल जाने वाले क्षतिग्रस्त रास्ते को तुरंत मरम्मत करने की मांग उठाई। उप जिला अधिकारी युक्ता मिश्र ने समस्याओं से संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे तत्काल समस्याओं के निराकरण के लिए समुचित कार्रवाई सुनिश्चित करें।
इस अवसर जिला प्रोबेशन अधिकारी अविनाश भदौरिया, सीएमएस डॉक्टर अनिल नेगी,जिला पंचायत राज अधिकारी रामपाल सिंह, अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग कमल सिंह, अधिशासी अभियंता पीएमजीएसवाई राजवर्धन तिवारी,सहायक अभियंता लोनिवि साहब सिंह सैनी ,जे0 पी 0तिवारी, ऋतु जैन, थानाध्यक्ष प्रदीप पंत आदि समस्त विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *