Tue. Jun 25th, 2024

पंजाब के सीएम चन्नी ने भाजपा व आप पर लगाया आरोप, कहा- लोगों को कोरोना का भय दिखाकर विधानसभा चुनाव टालना चाहते हैं

पंजाब में 15 जनवरी से सार्वजनिक स्थलों पर कोरोना वैक्सीन न लगवाने वालों की एंट्री पर पाबंदी लगाने के निर्देश देने के अगले ही दिन मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने आरोप लगाया है कि कोरोना को लेकर बिना वजह डराया जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी लोगों में भय पैदा कर रही हैं। ऐसा चुनाव टालने के लिए किया जा रहा है। चंडीगढ़ में मीडिया से बात कर रहे थे। चन्नी ने कहा कि दिल्ली सरकार ने कई तरह की पाबंदियां लगा दी हैं, जबकि उत्तर प्रदेश में भी भाजपा सरकार ने नाइट कर्फ्यू लगा दिया है

उल्लेखनीय है कि चन्नी की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब पंजाब में ओमिक्रोन का पहला केस नवांशहर में सामने आया है। हालांकि, पीड़ित व्यक्ति स्वस्थ हो चुका है। यह व्यक्ति 12 दिसंबर को स्पेन से पंजाब आया था। इसकी जीनोम सीक्वेसिंग की रिपोर्ट 28 दिसंबर को आई। पंजाब में जीनोम सीक्वेसिंग में देरी हो रही है। इस व्यक्ति के संपर्क में आए अन्य 13 लोग भी स्वस्थ हो चुके हैं, लेकिन इस बात से इन्कार नहीं किया जा सकता कि पंजाब में आने वाले समय में ओमिक्रोन के मामलों की संख्या बढ़ सकती है

एक तरफ देश में कोरोना के वेरिएंट ओमिक्रोन के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं। इसे देखते हुए देश के कई राज्यों ने ओमिक्रोन की रोकथाम के लिए कई प्रतिबंध भी लगाए हैं। वहीं, दूसरी तरफ अगले साल पंजाब समेत कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। निर्वाचन आयोग अगले साल के पहले महीने जनवरी में चुनाव की तारीखों की घोषणा कर सकता है। वहीं, इससे पहले भी देश में बंगाल चुनाव के दौरान कोरोना की दूसरी लहर चरम सीमा पर थी, लेकिन चुनाव स्थगित नहीं किए गए थे। ऐसे में अब इन राज्यों में भी चुनाव स्थगित होने का कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा है।

जनवरी में हो सकता है चुनाव का फैसला

27 दिसंबर को पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों को लेकर चुनाव आयोग ने एक बैठक का आयोजन किया था। स्वास्थ्य मंत्रालय और चुनाव आयोग की इस बैठक में चुनाव टालने को लेकर कोई फैसला नहीं लिया गया था। साथ ही आयोग ने केंद्र सरकार से ओमिक्रोन को लेकर रिपोर्ट भी मांगी थी। अगले साल के पहले हफ्ते जनवरी में चुनाव आयोग और स्वास्थ्य मंत्रालय के बीच एक और बैठक आयोजित की जाएगी।

वर्चुअल रैलियों के लिए भाजपा पूरी तरह तैयार: शेखावत

वहीं इस बीच केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने बुधवार को कहा कि आने वाले समय में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव को लेकर होने वाली चुनाव रैलियों पर भारतीय चुनाव आयोग फैसला लेगा। ओमिक्रोन के खतरे को देखते हुए हम दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे। भारतीय जनता पार्टी वर्चुअल चुनावी रैलियों के लिए पूरी तरह से तैयार है। कोरोना की दूसरी लहर में बंगाल चुनाव के दौरान भी हमने और हमारी पार्टी ने काफी वर्चुअल चुनावी रैलियां की थीं।

हम चुनाव के लिए तैयार: आप

आम आदमी पार्टी के विधायक अमन अरोड़ा ने कहा कि दिल्ली सरकार ने लोगों को कोरोना से बचाने के लिए ही यह पाबंदियां लगाई हैं। उनका चुनाव से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि हम तो चुनाव के लिए तैयार हैं।

राहुल गांधी की तीन जनवरी की प्रस्तावित रैली रद

मोगा में तीन जनवरी को कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की प्रस्तावित रैली सुरक्षा कारणों के चलते रद कर दी गई है। कांग्रेस विधायक डा. हरजोत कमल ने कहा कि कांग्रेस के स्थानीय नेताओं की मांग थी कि चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद रैली की जाए, तो इसका ज्यादा फायदा होगा, इसीलिए रैली रद की गई है। वहीं, प्रशासनिक सूत्रों का दावा है कि सुरक्षा कारणों से रैली रद की गई है। पांच जनवरी को फिरोजपुर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली को देखते हुए दोनों बड़े नेताओं की सुरक्षा व्यवस्था दो दिन के अंदर कर पाना संभव नहीं था। इन्हीं कारणों के चलते राहुल गांधी की रैली तीन जनवरी के बजाय आने वाले दिनों में हो सकती है।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *