Sun. Jun 16th, 2024

तेलंगाना भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की गिरफ्तारी के विरोध में जेपी नड्डा हैदराबाद में करेंगे कैंडल मार्च

तेलंगाना भाजपा अध्यक्ष बी संजय कुमार की गिरफ्तारी पर मची रार थम नहीं रही है। संजय कुमार की गिरफ्तारी के बाद भाजपा ने राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पार्टी नेताओं से लेकर केंद्रीय मंत्री और भाजपा अध्यक्ष सरकार पर जमकर हमला बोल रहे हैं। संजय कुमार की गिरफ्तारी के विरोध में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा आज हैदराबाद भी जा रहे हैं। जेपी नड्डा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की गिरफ्तारी के विरोध में आयोजित कैंडल लाइट मार्च में शामिल होंगे।

भाजपा की तेलंगाना इकाई ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा आज शाम हैदराबाद में होने वाले कैंडल लाइट मार्च में शामिल होंगे। भाजपा ने इस गिरफ्तारी को अवैध बताया है। कैंडल लाइट मार्च सिकंदराबाद में महात्मा गांधी स्मारक से पैराडाइज रोड तक होगी।

बौखला गई राज्य सरकार

इससे पहले नड्डा ने सोमवार को भी राज्य सरकार को आड़े हाथों लिया था। नड्डा ने कहा, ‘भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बी संजय कुमार अपने कार्यालय में कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस जबरन उनके कार्यालय में घुसी और उनके साथ मारपीट की।’ नड्डा ने आगे कहा कि केसीआर सरकार हाल के उपचुनावों में भाजपा की जीत और राज्य में हमारी पार्टी को मिल रहे समर्थन को देखकर बौखला गई है। उन्होंने कहा कि हम पुलिस कार्रवाई के खिलाफ सभी कानूनी और लोकतांत्रिक उपाय करेंगे।

केंद्रीय मंत्री का भी हमला

केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी ने भी संजय कुमार की गिरफ्तारी को लेकर सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि संजय कुमार ने प्रदर्शन के दौरान कोविड नियमों का उल्लंघन नहीं किया है। संजय कुमार राज्य में शिक्षकों की समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। यही वजह है कि उन्हें गिरफ्तार किया गया। रेड्डी ने आगे कहा कि राज्य सरकार ने तेलंगाना में जनविरोधी नीतियों को अपनाया और लागू किया है और राज्य के मतदाता उन्हें सबक सिखाएंगे।

14 दिन की न्यायिक हिरासत में संजय कुमार

गौरतलब है कि संजय कुमार रविवार को करीमनगर में शिक्षकों की समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस ने कोविड नियमों के उल्लंघन के आरोप में उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। सोमवार को अदालत ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *