Fri. Jun 14th, 2024

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने योग गुरु बाबा रामदेव को भागीरथ बताया

राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द पतंजलि विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षा समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। विवि के आडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में करीब एक हजार छात्र-छात्राओं को डिग्री मिलेगी। साथ ही राष्ट्रपति स्वर्ण पदक से भी सम्मानित करेंगे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने योग गुरु बाबा रामदेव को भागीरथ बताया। उन्होंने कहा कि योगगुरु बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने योग क्रांति को विश्व में फैलाने का काम किया। 21 जून 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का शुभारंभ किया। आज योग दुनिया के करोड़ों लोगों की दिनचर्या का हिस्सा बना है

उन्होंने कहा कि योग को राज्य सरकार बढ़ावा दे रही है। योग और भारतीय मूल्यों को जन जन तक पहुंचाने के लिए सरकार कृत संकल्पित है। उनका कहना है कि उत्तराखंड को नंबर वन राज्य बनाने के लिए प्रयासरत हैं। यहां की जनता और साधु संतों के आशीर्वाद से इस लक्ष्य को प्राप्त किया जाएगा।। इस दौरान उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द को सभी के लिए प्रेरणा बताया। इससे पहले उत्तराखंड के राज्यपाल गुरमीत सिंह, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, मंत्री धन सिह रावत, यतीश्वरानंद ने राष्ट्रपति का स्वागत किया। राष्ट्रपति विवि के नवनिर्मित परिसर का भी उद्घाटन करेंगे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द देवभूमि के दौरे पर हैं। शाम को वे ऋषिकेश में गंगा आरती में हिस्सा लेंगे। वहीं, सोमवार को देव संस्कृति विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे। पतंजलि और योगगुरु बाबा रामदेव के प्रवक्ता एसके तिजारेवाला ने बताया कि दीक्षा समारोह में पतंजलि विश्वविद्यालय के चांसलर और योगगुरु बाबा रामदेव, विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर और पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण भी संबोधित करेंगे।

पतंजलि और योगगुरु बाबा रामदेव के प्रवक्ता एसके तिजारेवाला ने बताया कि दीक्षा समारोह में केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, उत्तराखंड के राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (सेनि.) गुरमीत सिंह, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत बतौर विशिष्ट अतिथि हिस्सा लेंगे। पतंजलि विश्वविद्यालय के चांसलर और योगगुरु बाबा रामदेव, विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर और पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण भी कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे। मेधावी बच्चों को दी जाने वाली डिग्री और गोल्ड मेडल आदि को लेकर उनका मार्गदर्शन भी प्राप्त होगा।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *