Thu. Jun 20th, 2024

भाविप ने किया शिक्षकों को सम्मानित

शिक्षक की साधना ही जीवन के लिए प्रेरणा पुंज

 मुजाहिद अली

सितारगंजभारत विकास परिषद द्वारा सरस्वती शिशु मंदिर में शिक्षक दिवस पर विद्यालय के शिक्षकों को सम्मानित किया गया। सर्वप्रथम मां सरस्वती व भारत माता के चित्र सम्मुख दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। भाविप के प्रान्तीय उपाध्यक्ष नरेश कंसल ने कहा कि शिक्षक समाज की रीढ़ है,हमारे जीवन में अच्छे व बुरे की पहचान शिक्षक ही दिलाता है। प्रान्तीय प्रक्लप संयोजक महेश मित्तल ने बच्चों को सम्बोधित करते हुए कहा कि शिक्षक एक मोमबत्ती की तरह स्वयं जलकर हमें प्रकाश देता है,व शिक्षक की साधना ही जीवन के लिए प्रेरणा पुंज है एक अच्छी शिक्षा ही समाज में मुकाम तक पहुंचाती हैं व समाज में स्थापित होने का हमें अवसर देती है। अध्यक्ष अजीत सिंह जोशन ने कहा कि आज का दिन डाक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी को समर्पित है। वरिष्ठ भाजपा नेता श्रीपाल राणा ने कहा कि वरिष्ठ दार्शनिक वरिष्ठ शिक्षाविद् महान व्यक्तित्व के धनी पूर्व राष्ट्रपति के जन्मदिन पर हमें संकल्प लेना चाहिए कि कोई भी बच्चा अशिक्षित न रहे, बच्चे ही हमारे देश का भविष्य हैं।

समाजसेवी दयाराम जिन्दल ने इस मौके पर भाविप के पदाधिकारियों व सदस्यों को सम्मानित किया।
प्रान्तीय उपाध्यक्ष नरेश कंसल, प्रान्तीय प्रक्लप संयोजक महेश मित्तल,संरक्षक पवन बड़सीवाल, अध्यक्ष अजीत सिंह जोशन, सचिव हरीश तनेजा, अनन्त प्रकाश शुक्ला, कोषाध्यक्षअमित गोयल,सन्तोष मिश्रा, शीतल सिंघल,राजकुमार सिडाना,सुमन राय,दयाराम जिन्दल,
कामदेश्वर प्रसाद त्रिपाठी सुरेश जैन,राकेश त्यागी, मदन मोहन मिश्रा, प्रधानाचार्य दिनेश सिंह दरम्वाल,तुलाराम राठौर,विनोद दुबे,अमन पाण्डेय, कीर्ति बल्लभ,मनोज कुमार, लालता प्रसाद,रेखा गंगवार, पूजा,सुशीला राना,मोनिका राना,किरन गोस्वामी,विमला देवी,आदि थे।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *