Thu. Jun 20th, 2024

चन्नी ने पढ़ाई-लिखाई पर हमला करते हुए कहा- भगवंत 12वीं पास हैं, ऐसा व्यक्ति कैसे पंजाब का मुख्यमंत्री बन सकता है

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने वीरवार को आप के सीएम फेस भगवंत मान की पढ़ाई-लिखाई और निजी जिंदगी पर निशाना साधा। चन्नी ने कहा कि मान मेरे साथ कैसे मुकाबला कर सकता है। मैं पीएचडी कर रहा हूं और मान को 12वीं पास करने के लिए भी तीन साल लग गए। ऐसे व्यक्ति को पंजाब का मुख्यमंत्री कोई कैसे देख सकता है। उन्होंने मान को शराब पीने का आदी बताते हुए कहा कि वह कहीं भी शराब पीकर पहुंच जाते हैं।केजरीवाल मुंगेरी लाल के सपने देख उन्हें सीएम पद पर बिठाना चाहते हैं। बता दें कि दो दिन पहले ही चन्नी ने ‘भइयों को घुसने नहीं देंगे’ बयान दिया था, जिस पर प्रधानमंत्री मोदी सहित विरोधी दलों की तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

गुरदासपुर जिले के श्रीहरगोबिंदपुर और दीनानगर विधानसभा क्षेत्रों में अलग-अलग रैलियों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि मैं गरीबों का मुख्यमंत्री हूं और गरीबों व एससी वर्ग के विकास का विशेष ध्यान आने वाली सरकार में रखूंगा। चन्नी ने मतदाताओं को आह्वान किया कि वे विरोधी पार्टियों के झांसे में आकर पंजाब का भविष्य न खराब करें। शिअद पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि दस वर्षों तक पंजाब को सुखबीर सिंह बादल ने जमकर लूटा। अकाली दल की सरकार के समय बहुत ही निंदनीय घटनाएं हुई और नशा चरम सीमा पर रहा। कांग्रेस की सरकार आने पर नशे के साथ-साथ अन्य बुराइयों पर अंकुश लगाया गया। बिजली बिल, पानी के बकाये माफ किए गए और पानी के बिल कम कर दिए गए।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार आने पर गरीब बच्चों को मुफ्त शिक्षा व स्वास्थ्य सेवाएं दी जाएंगी और युवाओं को रोजगार के अवसर पैदा किए जाएंगे। सरकार आने पर एक लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा।

धर्मकोट में चार घंटे तक इंतजार के बाद लोग लौटे

जासं, कोट ईसे खां (मोगा) :मोगा के धर्मकोट में मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के चार घंटे इंतजार के बाद भी जब वे नहीं पहुंचे तो लोग परेशान होकर लौटने लगे। लोगों को रोकने के लिए पुलिस ने बैरिके¨डग से बनाए गेट बंद कर दिए। यहां तक कि कार्यकर्ताओं ने लोगों को केले बांटकर उन्हें मनाना चाहा लेकिन परेशान लोग एक साइड की बैरिके¨डग तोड़कर बाहर निकल गए। चन्नी ने यहां दोपहर चार बजे पहुंचना था लेकिन वे आठ बजे तक नहीं पहुंचे थे।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *