Wed. Jun 19th, 2024

ओमीक्रोन का बढ़ा खतरा, एक्शन में सरकार, एयरपोर्ट पर कोरोना की जांच शुरू कर दी गई

देशभर में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रान (Omicron Variant) को लेकर टेंशन बढ़ गई है। वायरस के नए वैरिएंट को डेल्टा वैरिएंट (Delta Variant) से भी ज्यादा खतरनाक बढ़ाया गया है। ऐसे में सभी राज्य अलर्ट मोड में हैं। उत्तराखंड नए वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग भी सतर्क हो गया है। यहां जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर कोरोना की जांच शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही चेक पोस्ट पर भी बाहर से आने वाले यात्रियों की कोरोना जांच बढ़ा दी गई है।

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर जौलीग्रांट एयरपोर्ट प्रशासन भी अलर्ट मोड में है। यहां टीम का गठन कर कोरोना जांच फिर शुरू कर दी गई है। मंगलवार को सभी फ्लाइटों से आने वाले यात्रियों की जांच की गई। एयरपोर्ट जांच केंद्र नोडल अधिकारी चेतन कोठारी ने बताया कि विमान से आने वाले हर यात्री की जांच की जा रही है। जिस व्यक्ति को दोनों वैक्सीन लगाए हुए 15 दिन बीत चुके हैं, उस यात्री को इससे छूट दी जा रही है। वहीं, जिन यात्रियों के पास 72 घंटे की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट हो तो उसे भी छूट दी जा रही। मंगलवार को एयरपोर्ट पर 32 यात्रियों की आरटीपीसीआर जांच की गई।

78 पुलिस कर्मियों की कोरोना जांच, सभी निगेटिव

एसपीएस राजकीय अस्पताल स्थित जांच केंद्र में 78 पुलिसकर्मियों की रैपिड एंटीजन जांच की गई। नोडल अधिकारी डा. सागर भट्ट ने बताया कि 78 जवानों की रैपिड एंटीजन जांच की गई, जिसमें सभी रिपोर्ट निगेटिव रही है।

सरकारी अस्पताल में भी बढ़ी सतर्कता

ऋषिकेश के सरकारी अस्पताल में मंगलवार से सतर्कता बढ़ा दी गई है। ओपीडी और इमरजेंसी सेवा में मास्क नहीं पहनकर आने वाले मरीजों और उनके तीमारदारों को वापस लौटाया जा रहा है। वरिष्ठ नागरिकों को मौके पर अस्पताल प्रशासन की ओर से मास्क उपलब्ध कराए। चिकित्सालय प्रशासन के मुताबिक बुधवार से ओपीडी और इमरजेंसी के मेनगेट पर थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। प्रत्येक मरीज और उनके तीमारदार की थर्मल स्क्रीनिंग होगी। इसका कड़ाई से पालन हो, इसके लिए स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देशित किया गया है।

ओमिक्रोन को लेकर उत्तराखंड अलर्ट मोड पर

  • हर जिले में प्रतिदिन 40 हजार टेस्टिंग का रखा गया है लक्ष्य।
  • स्कूल-कालेज, बार्डर चेक पोस्ट, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, पर्यटन स्थल और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर होगी रैंडम सैंपलिंग।
  • राज्य की सीमा से लगे नेपाल से आवाजाही को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगाने का प्रमाणपत्र रखना अनिवार्य।
  • सार्वजनिक स्थानों पर सुरक्षित शारीरिक दूरी, मास्क पहनना और सैनिटाइजेशन का सख्ती से होगा अनुपालन।
  • सार्वजनिक स्थानों पर थूकना होगा गैरकानूनी, उल्लंघनपर जुर्माना।
  • अंतरराष्ट्रीय बार्डर चेक पोस्ट पर भी रैंडम टेस्ट किए जाएं।
  • अंतरराष्ट्रीय बार्डर चेक पोस्ट पर भी होंगे रैंडम टेस्ट।
  • विदेश से आए जो यात्री होम क्वारंटाइन हैं, उनकी होगी निगरानी।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *