Fri. Jun 14th, 2024

शहरवासियों के खुशखबरी- दस नवंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेट्रो के ट्रायल रन को दिखाएंगे हरी

मेट्रो के इंतजार की घड़ियां जल्द खत्म होने वाली हैं, शहर में जल्द ही ट्रैक पर मेट्रों के दीदार होने वाले हैं। शहरवासियों के खुशखबरी यह है कि दस नवंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेट्रो के ट्रायल रन को हरी झंडी दिखाने वाले हैं, जिसके कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार हो गई है। इसी कड़ी में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने रविवार को मेट्रो डिपो में पहुंचकर जायजा लिया और यूपीएमआरसी के एमडी कुमार केशव से जरूरी जानकारी हासिल की। डिपो में बना शहर की मेट्रो का पूरा माडल भी देखा और अबतक हुए कार्य के बारे में जानकारी की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक कानपुर शहर की मेट्रो भी है और वह जल्द से जल्द शहरवासियों को तोहफा देना चाहते हैं। यही वजह है कि कानपुर में मेट्रो का काम काफी तेजी से हो रहा है। आइआइटी से फूलबाग तक प्रथम चरण के मेट्रो ट्रैक का निर्माण का कार्य जारी है। इसमें आइआइटी से मोतीझील तक एक फेज का काम तकरीबन अंतिम चरण पर है। वहीं आइआइटी से रावतपुर तक सभी मेट्रो स्टेशन पर काम तकरीबन पूरा हो चुका है। पालीटेक्निक में बने डिपो में पहली मेट्रो के कोच आने के बाद तेजी से असेंबलिंग का काम पूरा किया गया है। बीते सप्ताह सोमवार की शाम असेंबलिंग के बाद मेट्रो कोच को डिपो से निकाल ट्रैक पर लाकर चेक किया गया था। पहले इसे डिपों के अंदर ट्रैक पर चलाया गया और फिर रात को गीता नगर स्टेशन से विश्वविद्यालय स्टेशन तक पांच किमी रफ्तार से चलाकर चेक किया गया था। अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ निर्धारित समय 15 नवंबर से 5 दिन पहले मेट्रो के पॉलिटेक्निक डिपो में सुबह 10:00 बजे मेट्रों को ट्रायल रन के लिए हरी झंडी दिखाएंगे। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की तैयारी को लेकर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने मेट्रो डिपो का निरीक्षण किया।

उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन के एमडी कुमार केशव ने औद्योगिक विकास मंत्री को बताया कि मुख्य गेट से मुख्यमंत्री की एंट्री कराई जाएगी। डिपो के अंदर ही सभा स्थल रहेगा, जहां पर करीब 500 अतिथियों के बैठने की व्यवस्था रहेगी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री को मेट्रो ट्रेन में बिठाकर जानकारी दी जाएगी क्योंकि रेलवे सुरक्षा आयुक्त की अनुमति के बगैर किसी को बिठाकर ट्रेन को चलाया नहीं जा सकता है। औद्योगिक विकास मंत्री ने परियोजना निदेशक के कार्यालय में मेट्रो के अधिकारियों के साथ बैठक करके मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर जरूरी दिशा निर्देश दिए।

औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने बताया कि मेट्रो ने लखनऊ में अपना रिकॉर्ड तोड़ा था और कानपुर में मेट्रो की रफ्तार उससे भी ज्यादा तेज रही है। 15 नवंबर 2019 को मेट्रो का कार्य शुरू हुआ था और बाद में कोरोना की वजह से काम की गति धीमी रही। इसके बावजूद मेट्रो के अधिकारियों ने तेजी से कार्य को पूरा किया है, जो सराहनीय है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री 10 नवंबर को सुबह 10:00 बजे मेट्रों के ट्रायल रन के लिए हरी झंडी दिखाएंगे। 31 दिसंबर तक मेट्रो का संचालन शहर में शुरू कर दिया जाएगा। उम्मीद है कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी जी के जन्मदिन के अवसर पर 25 दिसंबर को ट्रेन चल सके। आचार संहिता लागू होने पर कहीं भी मेट्रो पर कोई असर नहीं आएगा। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर आरोप लगाते उन्होंने कहा कि कागजों पर ऐसी योजनाएं बनाई जो स्वीकृति ही नहीं थी और न ही बाद में उनकी स्वीकृति लेने का प्रयास किया गया। कानपुर मेट्रो की वित्तीय स्वीकृति समेत सभी क्रियान्वयन भाजपा सरकार में किया गया है।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *